Type Here to Get Search Results !

भारत का सोना: नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) / Latest News 2021

नीरज चोपड़ा

नीरज चोपड़ा का नाम आज सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में गूंज रहा है। भारत के नीरज चोपड़ा ने टोक्यो में चल रहे ओलंपिक में भाला फेंक इस प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतकर भारत का नाम पूरी दुनिया में रोशन किया है। भारत के स्वर्ण पदक की दरकरार नीरज चोपड़ा ने पूरी की है। नीरज चोपड़ा पर पूरे भारत को गर्व है।

(Niraj Chopra) 

(Niraj Chopda) 

भारत का सोना: नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra)

Neeraj Chopra Biography

(Niraj Chopra jivan parichay) 

 परिचय:

नीरज चोपड़ा का जन्म भारत के हरियाणा, पानीपत के खांद्रा गांव में 24 दिसंबर 1997 में हुआ। इनके पिता सतीश कुमार एक किसान है एवं माता सरोज देवी एक ग्रहणी है। 23 वर्षीय नीरज ने आज अपना और अपने देश का नाम पूरे विश्व में उजागर किया है। 

(Tokyo Olympics Gold Medalist) 

(Tokyo Olympics Gold) 

 नीरज के पिता की किसान होने के नाते इनके घर की आर्थिक परिस्थिति अच्छी नहीं थी इसलिए नीरज की प्रारंभिक शिक्षा हरियाणा में ही हुई। प्रारंभिक शिक्षा पूरी करने के बाद नीरज बीबीए कॉलेज से ग्रेजुएट हुए।

Gold Medalist Niraj Chopra

 2016 में नीरज ने बेजोड़ मेहनत की और भारतीय सेना में शामिल हुए। 2016 से अब तक वह देश की सेवा में है। केवल 19 साल की उम्र में ही वो अपने घर को आर्थिक सहायता देने लगे। अब वह सेना में सूबेदार पद पर हैं।

(Niraj Chopra Achievements) 


उपलब्धियाँ:

 टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने के साथ साथ ही नीरज ने शियाई खेल 2018-जकार्ता, राष्ट्रीय मंडल खेल 2018, एशियाई प्रतियोगिता 2017-भुनेश्वर, दक्षिण एशियाई खेल 2016-गुवाहाटी/शिलांग, वर्ल्ड जूनियर प्रतियोगिता 2016-विदुगोश्ट इन सभी खेलों के भालाफेक इस प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता है। 

Gold Medalist Niraj Chopra

 नीरज चोपड़ा के कोच उवे हॉन हैं, जो कि जर्मनी के जाने-माने भालाफेक खिलाड़ी रह चुके हैं।

 7 अगस्त 2021, शनिवार, टोक्यो में चल रहे ओलंपिक में नीरज चोपड़ा ने भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता है। जैवलिन थ्रो यानी भाला फेंक मे नीरज लगातार अच्छे प्रदर्शन किए जा रहे थे और इसी वजह से उन्होंने 87.58 मीटर भाला फेंक कर स्वर्ण पदक जीता।

(Gold For India) 

 सबर कहां तक पाला जाए, 

 पदक कहां तक टाला जाए। 

 तू भी है सेना का अफसर, 

 फेंक जहां तक भाला जाए।

(Olympics Gold For India) 


                                                 - अविनाश कुमार

Related Post - 

1. एक सफल खिलाड़ी पी वी सिंधु / P V Sindhu


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.