Type Here to Get Search Results !

एक सफल खिलाड़ी पी वी सिंधु / P V Sindhu / Tokyo Olympic News 2021

P V Sindhu

(P V Sindhu Biography) 

एक सफल खिलाड़ी पी वी सिंधु / P V Sindhu / Tokyo Olympic News 2021

P V Sindhu Jivanparichay

 सारी दुनिया की नज़र इस समय टोक्यो में आयोजित ऑलम्पिक खेलों पर लगी हुई है। सुबह उठते ही अख़बार, मोबाइल या इंटरनेट के ज़रिए हम यह जानने के लिए बेचैन रहते हैं कि, किसने कितने मेडल जीते या फिर कौन जीता और कौन हारा? यूँ तो इस बार ऑलम्पिक खेलों में भारतीय महिला खिलाड़ियों का दबदबा लगातार क़ायम है और इसी श्रृंखला में बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधु का भी नाम जुड़ गया है जब उन्होंने कांस्य (Bronze) पदक जीता। लगातार दो बार ऑलम्पिक में पदक जीतने वाली वो पहली महिला खिलाड़ी हैं।

P V Sindhu Caste

       कौन है यह पी वी सिंधु, आइए जानें-

          5 जुलाई, 1995 को आँध्र प्रदेश में जन्मी पुसर्ला वेंकट सिंधु विश्वस्तर प्राप्त महिला बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। वे भारत की नेशनल चैम्पियन रह चुकी हैं। ऑलम्पिक में भारत की ओर से महिला एकल बैडमिंटन का रजत (Silver) और कांस्य (Bronze) पदक जीतने वाली पहली खिलाड़ी होने का गौरव भी उन्हें मिला है। 

P V Sindhu Caste


       पी वी सिंधु के पिता श्री पी वी रमण, पूर्व वॉलीबॉल खिलाड़ी अर्जुन पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं। लेकिन, 2001 के ऑल इंग्लैंड ओपन बैडमिंटन चैम्पियन बने पुलेला गोपीचंद से प्रभावित होकर पी वी सिंधु ने बैडमिंटन को चुना। उन्होंने मात्र आठ साल की उम्र से बैडमिंटन खेलना शुरू कर दिया और पुलेला गोपीचंद की अकादमी में भर्ती हो गयीं और यहीं से शुरू हुआ पी वी सिंधु का कामयाबी का सफ़र। उनकी परवरिश और पढ़ाई तेलंगाना राज्य के हैदराबाद शहर में हुई है।

    सन् 2016 में ब्राज़ील में आयोजित ग्रीष्मकालीन ऑलम्पिक में भारत का प्रतिनिधित्व करके महिला एकल स्पर्धा के फ़ाइनल में पहुँचने वाली भारत की पहली महिला खिलाड़ी बनीं।

        अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पी वी सिंधु ने कई बार कामयाबी हासिल की है। सन् 2009 में कोलंबो में आयोजित सब जूनियर एशियाई बैडमिंटन चैम्पियनशिप में वो कांस्य पदक विजेता रहीं हैं। सन् 2010 में ईरान फज्र इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंलेज के एकल वर्ग में रजत पदक विजेता रहीं। सन् 2013 में चीन के विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप के एकल वर्ग में कांस्य पदक जीता था। सन् 2013 में 18 वर्ष की पी वी सिंधु ने कनाडा में दूसरा ग्रां प्री गोल्ड जीता।

       आज न सिर्फ़ राष्ट्रीय स्तर पर बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी पी वी सिंधु ख्याति प्राप्त महिला खिलाड़ी हैं। हमें उम्मीद है कि पी वी सिंधु की कामयाबी का यह सिलसिला जारी रहेगा और वो भारत का नाम सदा रोशन करेंगी।

                                            -शचिता गोगीनैनी

Related Post - 

1. एक सफल खिलाड़ी पी वी सिंधु / P V Sindhu

                                                                                              

          


   

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.