Type Here to Get Search Results !

New खजाने की खोज (Khajane ki kahaniyan) 2021: Very Nice Story

खजाने की खोज (Khajane ki kahaniyan)

एक गांव में शंकरलाल नाम का किसान अपनी पत्नी ओर दो लड़को के साथ रहता था। शंकरलाल किसान खेतो में काम करके अपने परिवार का भरण पोषण करता था परंतु उसके दोनों लड़के बहुत ही अलसी थे। जो गांव में इधर उधर धूमते रहते थे। 

Top 10 Moral stories in Hindi शार्ट मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी विथ मोरल Moral Stories in Hindi स्टोरी इन हिंदी फॉर चाइल्ड


शंकर लाल अपनी पत्नी से कहता है, आज तो में खेतो में काम कर रहा हु परन्तु मेरे ना होने पर मेरे दोनो लड़को का क्या होगा इन्हें तो कुछ भी याद नही है ना ही कभी खेतो पर गए है। शंकर लाल की पत्नी कहा कि धीरे धीरे सब ठीक हो जाएगा और ये भी कम करने लगेंगे। 

धीरे धीरे समय बीतता गया और इस ही चलता रहा एक दिन शंकर लाल की तबीयत अचानक बिगड़ गयी। ओर शंकर लाल को बीमार हुए बहुत दिन बीत गए और उसकी तबियत अभी भी वैसी ही है। 

Moral Story In Hindi

शंकर लाल ने अपनी पत्नी को बुलाया और कहा उन दोनों लड़को को बुलाओ शंकर लाल की पत्नी उन दोनों को बुला कर लायी टैब शंकर लाल बोला में अब ज्यादा दिनों तक जिंदा नही रहूंगा मेरे जाने के के बाद मेरे दोनो लड़को का क्या होगा । 

Bacchon Ki Kahani (खजाने की कहानियां)

इसलिए उसने कहा बेटो मेने अपने जीवन मे जो कुछ भी कमाया है वो मेने अपने खेतो में गाड़ा है मेरे न होने पर तुम दोनों उसे निकाल लेना और आपस मे बात लेना। दोनो लड़के यह बात सुनकर बहुत खुश हुए । 

कुछ समय बाद शंकर लाल की म्रत्यु हो गयी । शंकर लाल की म्रत्यु को कुछ दिन बीत गये उसके बाद दोनो लड़के खेत में खजाना ढूंढने गए। उन्होंने सुबह से शाम तक पूरा खेत खोद दिया। लेकिन उनको कोई खजाना नजर नही आया । 

Moral Stories 

लड़के घर आकर अपनी माँ से कहते है कि मै पिता जी ने हमसे झूट बोला था । खेत मे कोई खाजना नही है । तुम्हारे पिता जी ने अपने पूरे जीवन काल मे ये घर और ये खेत ही कमाया है पट तुमने ये खेत खोद ही दिया है तो उसमें बीज भी डाल दो । 

उसके बाद मा के कहेनुसार बेटो ने बीज बो दिया और कुछ समय बाद फसल पकक कर तैयार हो गयी। जिसको बेच कर लड़को को अच्छा मुनाफा हुवा । 

फिर लड़के वो पैसे लेकर मा के पास गए तो माँ ने बोला असली खजाना अपनी मेहनत में होता है तुम्हारे पिता जी तुम्हे यही समझना चाहते थे।

Conclusion -

इस खजाने की खोज (Moral Stories In Hindi) कहानी से हमे यहा सिख मिलती है, कि जीवन मे असली  खजाना अपनी खुद की मेहनत है। हमे दुसरो के भरोसे नही रहना चाहिए । दोस्तो, यह Moral Stories कहानी आपको पसंद आयी हो तो, अपने दोस्तों को जरूर शेयर करे।

Related Posts -

4.बिना गर्दन वाली लड़की


Keywords-
खजाने की कहानियां, hindi kahani blog, khajane ki kahaniyan, Moral stories, hindi stories for kids, hindi moral stories, bedtime stories for kids,


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.